Press "Enter" to skip to content

मैदे से बनी चीजें क्यों होती हैं सेहत के लिए खतरनाक, ये रहे 5 कारण

हममें से ज्यादातर लोग अपनी डेली लाइफ में मैदे का सेवन रोज करतें हैं चाहे वह सुबह के नाश्ते की ब्रेड हो या पिज़्ज़ा, बर्गर इन सभी खाद्य पदार्थों में मैदा ही होता है.आपने सुना होगा की मैदा हमारी सेहत के लिए हानिकारक होती है लेकिन फिर भी आप उसका सेवन अधिक मात्रा में करते हैं क्योंकि सड़क पर बिक रहे मोमोज,ब्रेड,कुलचे,समोसा,नान इन सभी में मैदे का इस्तेमाल होता होता है लेकिन आज हम आपको मैदे से होने वाले नुकसान के बारे में बताएँगे की मैदा आपकी सेहत के लिए कितना हानिकारक है

  1. गेंहू से बना मैदा नुकसान क्यों करता है.

आपको बता दें की मैदा आटे की तरह गेंहू से बनाया जाता है लेकिन दोनों की प्रक्रिया अलग अलग होती है आटे को बनाते समय गेंहूँ को ऐसे ही पीस दिया जाता है और थोडा भुरभुरा रखा जाता है लेकिन मैदा बनाते समय गेंहूँ के ऊपर की गोल्डन परत को हटा दिया जाता है और बहुत महीन पीसा जाता है जिससे कई पोषक तत्व नष्ट हो जाते है जो की आटे में नष्ट नही होते हैं और डाईट्री फाइबर भी नही बचता है इस कारन मैदा पचाने में दिक्कत हो जाती है.

जरूर पढ़ें:   मूली के रस में नमक मिलाकर पीने से होते हैं ये लाभ.

मैदे में सफेदी कैसे आती है.

जब गेंहूँ से मैदा पीसा जाता है तो वह इतना सफ़ेद नही होता है इसमें सफेदी लाने के लिए नुकसान देह केमिकल से ब्लीच किया जाता है जिसके बाद मैदा तैयार हो जाता है.इन केमिकल में कैल्शियम पर ऑक्साइड,क्लोरिन,क्लोरिन डाई ऑक्साइड्स जैसे कई ब्लीचिंग के लिए केमिकल इस्तेमाल किये जाते हैं.

3. आँतों में चिपक जाना.

मैदा चिकना होने के साथ साथ महीन भी होता है जिस कारण यह आँतों से चिपक जाता है और इसमें डाईट्री फाइबर बिलकुल भी नही होता है इस कारण यह पचने में आसान नही होता है,और न पचने के कारण ये आँतों से चिपक जाता है जिसकी वजह से ये कई बिमारियों को न्योता भी देता है,मैदे का सेवन करने से कब्ज़ जैसी समस्या होना आम बात है.

4. मोटापा और कोलेस्ट्रोल बढाता है.

मैदे का सेवन करने से ये शरीर का वजन बढाने लगता है क्योंकि इसमें स्टार्च की मात्रा अधिक होती है और शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा भी बढ़ने लगती है,अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो मैदे का सेवन कम से कम करें.

5. डाईबटीज का खतरा.

मैदे का सेवन करने से शुगर का लेवल बढ़ जाता है,मैदे में अधिक मात्रा में ग्लाई सेमिकइंडेक्स होता है.अगर आप मैदे का सेवन अधिक मात्रा में करते है तो आपको शुगर का खतरा बढ़ जाता है.

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: